Geeta Jayanti 2019 || श्रीमद भगवद गीता की रोचक बाते || Bhagavad Gita PDF

 

Bhagavad Gita

Festivalsinfo.Com के सभी दशॅको को नमस्कार आज हम गीता के बारे में जाने गे श्रीमद् भगवद गीता मे भगवान श्रीकृष्णने स्वयं के महिनो मे मागॅशीषॅ  वृक्षो मे अक्षव्रत बताते हे इसी महिने मे कुरूक्षेत्र के मेदान मे अजुॅन को दिया था  गीता का ज्ञान  प्रतिवषॅ मागॅशीषॅ महिने की शुक्ल पक्ष एकादशी  दीन  मे पूरे दुनिया मे  गीता जंयती  रुप  मनाये जाता  है साडे पाचं हजार वषॅ के बाद भी गीता उतनी ही प्रचलित हे इतनी दापर युग मे थी आज मोक्ष दा एकादॅशी हे आज भगवान विष्णु के दशॅन से मोक्ष मिलता हे FestivalsInfo.Com मे गीता का ज्ञान सिफ आपको यह पोस्ट पढ कर ही मिलेगा ।

Geeta Jayanti 2019
Shrimad Bhagwat Geeta

 

Geeta Jayanti 2019

» 8 December 2019 को पूरी दुनिया में गीता जयंती मनाई जाये गी इस दिन सब लोग  Shrimad Bhagwat Geeta को पूजन करते हे और Bhagwat Geeta को पढ़ते भी हे और Shrimad Bhagwat Geeta पढ़ने हम बहुत पुन्य मिलता हे एसा हमारे सास्त्रो लिखा हे

 

Shrimad Bhagwat Geeta

श्रीमद भागवत गीता एक ऐसा ग्रंथ हे जिसको संसार के करीब दो भाषा मे अनुवाद हुआ हे श्रीकृष्ण ने अजुॅन का जीवन का ममॅ समझया था आईये  आपको बताते हे  गीता आखिर क्या है ?  वो कोन सी हालत थी  जब भगवान  श्रीकृष्ण  को गीता का ज्ञान देना पडा था युद्ध के मेदान  मे जहा दुश्मन पराये अपने संगे सबंधी  हे  नाते रिश्तेदार  हे गुरूजन  हे  ऐसी परिस्थति मे किसी  भी व्यकित की हिंमत जवाब दे सकती हे  अजुॅन जेसे महान योधा  का  मन भी विचलित हो गया हे  तब अपने साथी  बने  भगवान  श्रीकृष्ण अपने  संखा  गुरू पथ प्रदशँन बन गये उन्होने अजुॅन के मन के संचय किया ददॅ किया ओर कतव्यॅ बोध करवाया  भगवान कृष्ण ने अजुॅन को  जो ज्ञान दिया  उसे 18 अध्याय  ओर  साथ 700 श्लोक मे शब्द बंध का नाम श्रीमद भागवत गीता पडा हे |

युद्ध के मेदान  मे ऐसे  अमर ग्रंथो की रचना ओर  धमॅ ग्रंथ होने के साथ – साथ विज्ञान भी हे सभी संचय होकर निभय होकर अपने कमॅ करने की प्रेरणा देने वाला ग्रंथ  हे  ज्ञान सहित विज्ञान हे  सिमा के बंधन से मुकत हे गीता का उपदेश भगवान श्रीकृष्ण ने दापर युग मे दिया हे गीता पाचं हजार वषॅ ज्यादा समय बिताने के बाद भी गीता प्रचलित  हे  गीता का एक-एक श्लोक  आज भी हर व्यकित पर वेसे  ही लागू होता हे जेसे युद्ध भूमि पर खंडे अजुॅन पर लागू हुवा था | गीता आज भी अन्याय से लडने ओर अपने अधिकार प्राप्त करने की शकित देती हे  यह मानव मात्र के लिये उपयोगी ओर हितकारी है गीता की निमानसा करने वाले अनेक विद्वानों का मानना हे के अजुॅन  तो एक निमिॅत मात्र थे अजुॅन को निमिॅत बना कर श्रीकृष्ण पूरे मानव समाज को  निष्काम कर्मयोग का ज्ञान दिया हे ।

 

›› Essay On Christmas In Hindi

›› Makar Sankranti Information In Hindi

 

भगवान श्रीकृष्ण ने अजुॅन से कहा मे तेरे लिये इस विज्ञान संहित ज्ञान को संपूणॅ पूणॅता के साथ कहेता हु जिसको जान कर संसार मे फिर कुछ जानने योग्य नही रहेगा श्रीमद् भागवत गीता मे केवल युद्ध के मेदान मे नही जीवन की रण भूमि मे बहुत उपयोगी ग्रंथ हे जब अजुॅन मोह के बंधन मे बंध कर नैतिक ओर अनैतिक धमॅ – अधमॅ पाप – पूण्य के बारे मे सोचता हे तो अपने कतॅव्य अपने लक्ष्य से दुर हो जाता हे  तब श्रीकृष्ण अजुॅन को समझते हैं जीवन एक चुनौती हे युद्ध हे संघष हे चित को स्थिर करके धैयॅ के साथ चुनोती का मुकाबला करना होगा।
यह उपदेश आज हम पर आप पर हर व्यकित पर लागू होता हे  यहा कमॅ करते रहेने को ज्यादा महत्व दिया गया हे अजुॅन एक यौद्धा हे  अपने अधिकार प्राप्त करने के लिये रण भूमि मे खडा हे  विजेता बनने की अदम्य साहस  हे  हथियार ही छोड देगा तो युद्ध केसे लडेगा ? विजय केसे होगा? तब श्रीकृष्ण अजुॅन को पुरुषाथॅ करने के लिये चुनोती देते हे । याद दिलाते हे के योद्धा का धमँ क्या हे ?


शरीर जेसे या शिल भूमि को प्राप्त करके भी यदी मनुष्य कमँ नही करता तो वेह भाग्य हिन हे यानि भाग्यवान वही हे जो कमॅ करता हे जो परिश्रम से वो सवारता हे वो कमॅ भी केसा निष्काम कर्म ओर करने के लिये श्रीकृष्ण ने जो कहा वो अमर श्लोक बन गया हे । यानी कमॅ करते रहो फल की इच्छा मत रखो यही  सुखी सफल जीवन का मंत्र हे इतना नही अजुॅन को अपने  दिव्य ओर विराट रुप के दशॅन भी कराते हे देह ओर आंत्मा का भेद समजाते हे जन्म ओर मरण दु:ख-सुख राग, देवेश, काम, कोध,लोभ मोह के बंघनो से मुक्त होने को कहेते है।
भगवान श्रीकृष्ण के उपदेश से अजुॅन का सारा संचय दुर हो गया अपना धनुष गांडी उठा लिया फिर तो अजुॅन विजेता बना सदा सदा के लिये अमर हो गया विरता ओर कमँ का परिचय बन गया हे ।

माना जाता हे हम गीता का अध्यायन स्वयंम को अजुॅन समज कर करते हे निरभंय कतैव्य के पंथ पर आगे बठते हे जीवन मेे सफल होते हे ऋषि वेद व्यास  श्रीमद भागवत गीता को सभी शास्त्रो का सार बताया हे उसका कहेना हे के जिसने गीता पढ ली इसे सभी शास्त्र पढ लिये हे। महात्मा गांधी के लिये गीता उसकी माता के समान हे जिसने कटीन क्षए मे मा हमे रास्ता दिखाती हे वेसी हे गीता जब आप गीता को पढेगे उसकी व्याख्या के लिये आप के कलम खुद उठ जायेगे ।

Bhagwat Geeta In Hindi
Bhagwat Geeta In Hindi

 

गीता मे ज्ञान का सागर केसे समाया हे

श्रीमद भागवत गीता साधारण भाषा मे गीता नाम से जाना जाता हे यह प्राचिन वैदीक रचना है संस्कृत भाषा के महाकाव्य मे महाभारत का अंग हे श्रीमद भागवत कथा महषिॅ वेदम व्यासने महाभारत की रचना की हे इसी श्रीमद भागवत गीता के रचना कार महषिॅ वेदमव्यास है हाल मे भगवान श्रीकृष्ण ओर अजुॅन के बिच का संवाद हे इस मे भगवान कृष्णने स्वयं मुख से ज्ञान इसी लिये यह दिव्य अलौकिक हे अमृत का सरोवर हे  ।

जिसने गीता पढ लिया उसने सारे वेद पुरान पढे लिया हे सारे शास्त्र स्मृति कर दी । इश्वर के तत्व के बारे मे बताया हे अपने विराट ओर दिव्य स्वरुपो के दशॅन कराये पंरमात्मा ने अपने मुख से जो कहा उसे  अजुॅन ने सुना इसी लिये गीता को श्रुति कहा जाता हे महाभारत महाकाव्य का अंश है उसमे उपनिषदो का ज्ञान समाया हे इसी लिये उपनिषदो का  उपनिषद भी कहा जाता हे  श्रीमद भागवत गीता मे 18 अध्याय हे और 700 श्लोक हे ।

 

श्रीमद् भागवत् गीता मुख्य अध्याय 

1 अजुॅन विषद योग
2 साख्य योग
3 कमॅ योग
4 ज्ञानकमॅ संन्यास योग
5 कमॅ संन्यास योग
6 आत्म संयम योग
7 ज्ञान योग विज्ञान योग
8 अक्षर परब्रह्मा योग
9 राज विधा गुह्य योग
10 विभूति विस्तर योग
11 विश्वरुप दशॅन योग
12 भकित योग
13 क्षेत्र-क्षेत्रज्ञ विभाग योग
14 गुणात्रय विभाग योग
15 पुरुषोतम योग
16 देवासुर संपद विभाग योग
17 श्रदात्रय विभाग योग
18 मोक्ष संन्यास योग

18 अध्याय मे श्रीकृष्ण ने मुख्य रुप से तिन योग की बात कही हे भकित योग, कमॅ योग ओर ज्ञान योग इन तिन योगो का मागॅ अलग हो सकता हे लेकिन मुल्य लक्ष्य भह्म्र हे परंमात्मा हे भगवान हे श्रीकृष्ण ने आंत्मा के स्वयं परिचय  पर बल दिया हे उन्होने शरीर को परमेश्वर आत्मा को अमर बताया हे धमॅ के मागॅ पर चलते हुवे अपने कतैव्य निभाते हुवे भौतिक सुख-सुविधा भोगते  हे  आंत्मा भी परिशोधन  करते रहेना चाहिये ताकी आंत्मा जन्म ओर मरण के बंधन से  मुक्त हो  जाये ओर मोक्ष मिल जाये ।

 

Bhagavad Gita PDF File Download In Hindi Language

bhagavad gita pdf

 

:- गीता मे श्रीकृष्ण ने कमॅ योग को सबसे ज्यादा महत्व बताया हे क्यु की कमॅ योग ही  भकित योग से जोडता हे भकित योग ज्ञान योग तरफ ले जाता हे ओर ज्ञान प्राप्ति के बाद मोक्ष हे ।

 

 

, , ,

About Admin

इस वेबसाइट में हम आपको पुरे इंडिया भर में जितने भी त्यौहार हे उसकी पूरी जानकारी देते रहे गे और सारे त्यौहार का इतिहास भी आपको इस वेबसाइट में जान ने को मिलेगा
View all posts by Admin →

3 thoughts on “Geeta Jayanti 2019 || श्रीमद भगवद गीता की रोचक बाते || Bhagavad Gita PDF

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *