Ganesh Visarjan 2019 || History Of Ganesh Visarjan

 

Ganpati Visarjan 2019 हेलो मित्रो देवताओ मे पहेले गणेश की पूजा करते है तो गणेश विसजँन क्यु करते हे उसके बारे मे 80% लोगो को पता नही। उसमे पोराणिक ग्ंथो की जानकारी इतिहास ओर भारत अाजाद मे मदद गणेश विसजँन से जुडी यह पोस्ट मे हे

ganesh visarjan history in hindi, ganesh visarjan 2019, history of ganesh visarjan, ganpati visarjan, ganesh visarjan
Ganpati Visarjan

12 September 2019 Ganesh Visarjan

 

(1)  पोेराणिक गंथो के मान्यता के अनुसार वैद व्यासने भादपद चतुथी के दिन से महाभारत की कथ| को गणेश सुनाई था यह कथा लगातार 10 दीन से सुन रहे थे । गणेशजी बहुत चतुर हे उसने 10 दिन मे अक्षरश: गंथ लिखा था 10 दिन के बाद जब वेेद व्यास की आंख खुल तो सामने गणेशने अथक महेनत गुरू को प्रसंत्र करता हे पर शरीर का तापमान बहुत है तब वैद व्यास निकट नदी के किनारे ले जा कर शीतल जल मे स्नान कराते तब भादपद चतुदँशी का दीन था

 

››

››

 

(2) इतिहास के अनुसार शिवाजी( मराठा साम्रज्यनो स्थापक) के सन 1630-1680 उस समय मे गणेश चतुथी मनाया जाता हे शिवाजीने कुलदेवता के रुप मे हर साल गणेशोत्सव सावँजनिक रूप मनाते हे पेशवाओ को जब अंत तब यह पारिवारिक त्योहार बना रहा ।

 

history of ganesh visarjan, ganesh visarjan 2019, ganesh visarjan history in hindi, ganesh visarjan, ganpati visarjan
History Of Ganesh Visarjan

 

(3)  सन 1893 मे अग्रेजो का शासन था तब बाल गंगाधर तिलकने अग्रेजो के खिलाफ एकजुट करने के लिए बडे स्तर पर उसे उत्सव पुनजीवित हे आयोजन किया जिसमे हजारो लोगो ने बडचड कर हिसा लिया ओर इस प्रकार धीरे धीरे पूरे राष्ट्र मे गणेश चतुथी मनाने जाने लगा बाल गंगाधर तिलक यह आयोजन महाराष्ट्र मे किया था ।इस कारण महाराष्ट्र मे यह पवंँ अंत्यत धूमधाम से मनाया जाता है तिलक उस समय स्वराज के लिएे संघषँ कर रहे थे ओर उहे अेसा मंच चाहिएे था। जिसके माध्यम से उनकी अवाज अघिक से अधिक भारतीयो तक पहोचे तब उहोने गएपति उत्सव का चयन किया ओर उसे भव ऱूप दिया जिसकी आज भी महाराष्ट्र मे देखने को मिलती है

 

(4) आजादी से पूवँ के समय मे अग्रेजो बहुत त्रास देते थे लोगो समुह मे बात करना मना था तब महाराष्ट्र के मुबई मे पहेले लाल बाग मे गणेश की स्थापना की ओर धूमधाम से यह पवँ मनाते हे यह त्योहार मे एकजुट होकर आदोलन की तारीख नक्की करते हे हजारो लोग संगठन ओर एकता से देश आजाद करने मे मदद ओर कलकता मे दुंगा पूजा भी भारत को अजादी की तरफ ले जाता हे

 

नोध :मित्रो यह पवँ की जानकारी मे कुछ भी गलत लगता हे ओर इसके बारे मे दुसरी जानकारी हो तो कमेट बोक्स मे लिख कर बताएे ।

 

 

 

, , , ,

About Admin

इस वेबसाइट में हम आपको पुरे इंडिया भर में जितने भी त्यौहार हे उसकी पूरी जानकारी देते रहे गे और सारे त्यौहार का इतिहास भी आपको इस वेबसाइट में जान ने को मिलेगा
View all posts by Admin →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *